Tuesday, November 2, 2010

डायरी के कुछ पन्ने ......

क्यु जिंदगी से अपेक्षाए बदती ही जा रही है... क्यु कुछ बड़ा कुछ अलग करने की चाह है इस दिल में .. आम इन्सान होना कोई बुरी बात तो है नही तो फिर क्यु इस जिंदगी से मन उचाटता जा रहा है ... कही न कही मन ये भी जानता है की पैसे से खुसिया नही खरीदी जा सकती फिर भी क्यु सब आँखे मूंदे उसी के पीछे भाग रहे है ... हमें लगता है की पैसा आ जायेगा तो ख़ुशी मिलेगी पर अगर अभी ही हम खुश है तो क्या ?? ओर पैसे की क्या जरुरत है ?? अगर कोई इन्सान धुप में ठेला खींचकर रात को पेट भर रोटी खा कर खुश है तो हमे उस पर दया दिखने का क्या हक़ है ?? हम क्यु आज कल हर चीज़ को पैसे से तोलने लगे है ... हर इन्सान टाटा , बिडला बनने पैदा नही हुआ ... हमें बस ये समझना है की आम होना भी खास है... क्युकि हर खास इन्सान अपने आप में आम इन्सान ही होता है और हर आम इन्सान कही न कही खास ही होता है...

14 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. ठीक कहती हैं कि प्रत्येक व्यक्ति अपने में खास है।

    स्वगत है हिन्दी चिट्ठाजगत में।

    ReplyDelete
  3. बिलकुल सही कहा आप ने धन्यवाद|

    ReplyDelete
  4. बहुत अच्छा लिखा आपने,
    <a href="sparkindians.blogspot.com> sparkindians.blogspot.com </a>

    ReplyDelete
  5. ज़िंदगी से अपेक्षाएं भी बढ़ रही हैं, और मन भी उचटता जा रहा है। खूब अंतर्विरोध है।

    शुक्रिया।

    ReplyDelete
  6. हर खास इंसान अपने आप मे आम है और हर आम इंसान अपने आप मे खास ...बहुत अच्छा लिखा है आपने..|दीपावली मंगलमय हो|शुभकामनाये|

    ReplyDelete
  7. "हर खास इन्सान अपने आप में आम इन्सान ही होता है और हर आम इन्सान कही न कही खास ही होता है"

    ReplyDelete
  8. आप व आपके परिवार सहित सभी पाठको को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं
    ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
    ‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’
    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    मालीगांव
    साया
    लक्ष्य

    हमारे नये एगरीकेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
    अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
    अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से

    कृपया अपने ब्लॉग पर से वर्ड वैरिफ़िकेशन हटा देवे इससे टिप्पणी करने में दिक्कत और परेशानी होती है।

    ReplyDelete
  9. यश, वैभव, सम्मान में,करे निरंतर वृद्धि.
    दीवाली का पर्व ये , लाये सुख - समृद्धि.
    आपको दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें.

    कुँवर कुसुमेश
    blog:kunwarkusumesh.blogspot.com

    ReplyDelete
  10. इस सुंदर से नए चिट्ठे के साथ हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  11. लेखन अपने आपमें रचनाधर्मिता का परिचायक है. लिखना जारी रखें, बेशक कोई समर्थन करे या नहीं!
    बिना आलोचना के भी लिखने का मजा नहीं!

    यदि समय हो तो आप निम्न ब्लॉग पर लीक से हटकर एक लेख
    "आपने पुलिस के लिए क्या किया है?"
    पढ़ सकते है.

    http://baasvoice.blogspot.com/
    Thanks.

    ReplyDelete
  12. हार्दिक धन्यवाद .....

    ReplyDelete